Mizoram bridge collapse : मिजोरम में पुल गिरने से 17 लोगों की गई जान, बड़ा हादसा

Mizoram bridge collapse: अंडर कंस्ट्रक्शन रेल ब्रिज ढहने से मिजोरम की राजधानी आइजोल में एक बड़ा हादसा हो गया है, जिसके परिणामस्वरूप 17 मजदूरों की मौत हो गई है। रिपोर्ट्स के अनुसार, इस घटना से मलबे मे अभी भी 30 से 40 मजदूर दबे हो सकते हैं।

इस आपदा के संबंध में त्वरित कार्रवाई के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया गया है, जिसका उद्देश्य है दबे हुए मजदूरों की सुरक्षा सुनिश्चित करना। हालांकि रेस्क्यू ऑपरेशन के बावजूद, मृतकों की संख्या और भी बढ़ सकती है, जो इस आपदा के परिणामस्वरूप हो सकता है।

एक नॉर्थन रेलवे के अधिकारी ने Mizoram bridge collapse पर खबर दी कि एक पुल का ध्वंस हो गया है, जो भारतीय रेलवे के एक परियोजना का हिस्सा था जिसने पूर्वोत्तर क्षेत्र की राजधानियों को जोड़ना था। इस परियोजना का निर्माण कुछ सालों से चल रहा था और हादसा सुबह 11 बजे हुआ।

हादसे के पीछे की वजह और उस समय पुल पर मौजूद लोगों की संख्या अभी तक स्पष्ट नहीं है।यह पुल कुरुंग नहर पर बन रहा था, जो बैराबी और सइरांग के बीच का मार्ग बनाने का हिस्सा था। इस पुल की ऊंचाई 104 मीटर थी और यह मिजोरम की राजधानी तक पहुंचने से पहले साइरांग नामक अंतिम रेलवे स्टेशन को जोड़ता था। इस प्रोजेक्ट के माध्यम से एजवाल को राष्ट्रीय रेलवे नेटवर्क से जोड़ा जाना है

Mizoram bridge collapse पर मुख्यमंत्री जोरामथंगा का ट्वीट

Mizoram bridge collapse

मुख्यमंत्री जोरामथंगा ने ट्वीट करके कहा है कि , ‘आइजवल के पास सैराग में निर्माणाधीन रेलवे ब्रिज गिर गया है और 17 मजदूरों की मौत हो गई है. रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है. इस हादसे मैं बहुत दुखी हूं. हादसे में जान गंवाने वाले लोगों के परिजन के प्रति मैं सहानुभूति व्यक्त करता हूं और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं. जो लोग हादसे के रेस्क्यू ऑपरेशन में मदद के लिए आगे आए हैं, उनके प्रति मैं आभार व्यक्त करता हूं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जताया दुख :

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने Mizoram bridge collapse पर दुख जताया है कि इस दुर्घटना के कारण जो लोग अपने प्रियजनों को खो चुके हैं, उनके प्रति संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना की है और बचाव अभियान को जारी रखने की घोषणा की है। उनका कहना है कि प्रभावित लोगों को हर संभव सहायता दी जा रही है।

इस दुर्घटना के परिणामस्वरूप जिन लोगों ने अपने प्रियजनों को खो दिया है, उनके परिवारों को 2 लाख रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। साथ ही, घायलों को भी उनकी स्थिति के अनुसार 50 हजार रुपए की आर्थिक मदद दी जाएगी।प्रधानमंत्री ने इस परिस्थिति के प्रति अपनी गहरी सहानुभूति व्यक्त की है और सरकार द्वारा आवश्यक कदम उठाए जाएंगे ताकि प्रभावित लोगों को सहायता पहुंच सके।

also read : G20 Summit : Delhi govt ने G20 Summit के कारण 8-10 सितंबर तक के लिए public holiday की घोषणा की

Leave a Reply