Geetika Shrivastava – अब पाकिस्तान के लिए अहम ज़िम्मेदारी, गीतिका श्रीवास्तव के हाथ – मोदी सरकार

Geetika Shrivastava

आज़ादी के बाद पहली बार भारत ने पाकिस्तान में अपने उच्चायोग की कमान किसी महिला के हाथ में सौंपी है।

2005 बैच की भारतीय विदेश सेवा यानी आईएफ़एस अधिकारी Geetika Shrivastava इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायोग की चार्ज डी अफेयर्स यानी सीडीए होंगी। Geetika Shrivastava डॉ एम सुरेश कुमार की जगह लेंगी। सुरेश कुमार वापस दिल्ली आ सकते हैं।

हालाँकि वर्तमान में दोनों देशों के बीच सीमित राजनयिक संबंध हैं। दोनों देशों के उच्चायोग में कोई उच्चायुक्त नहीं है। उच्चायोग की ज़िम्मेदारी सीडीए को दी गई है, जो संयुक्त सचिव रैंक का अधिकारी होता है। दोनों देशों के बीच जारी राजनयिक संकट के बीच मोदी सरकार ने इस्लामाबाद स्थित भारतीय उच्चायोग की कमान महिला को सौंपी है।

Geetika Shrivastava अभी विदेश मंत्रालय के मुख्यालय में संयुक्त सचिव के तौर पर काम कर रही थीं। अंग्रेज़ी अख़बार इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, विदेशी भाषा सीखने की ट्रेनिंग में गीतिका ने चीनी भाषा मंदारिन सीखी थी। 2007 से 2009 के बीच गीतिका श्रीवास्तव बीजिंग स्थित भारतीय दूतावास में जूनियर राजनयिक के तौर पर काम कर चुकी हैं।

पाकिस्तान में 1947 के बाद, भारतीय उच्चायोग की कमान पुरुषों के पास ही रही है। पाकिस्तान में भारतीय मिशन के 22 प्रमुख बने और सभी पुरुष ही थे। पाकिस्तान में भारत के आख़िरी उच्चायुक्त अजय बिसारिया थे, लेकिन 2019 में भारत ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी किया था, जिसके बाद पाकिस्तान ने उन्हें वापस जाने के लिए कहा था। इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट में उल्लिखित है कि पाकिस्तान में पहले भी महिला राजनयिकों की नियुक्ति हुई है, लेकिन उन्हें कमान नहीं सौंपी गई थी। उम्मीद है कि गीतिका इस्लामाबाद में जल्द ही ज़िम्मेदारी संभालेंगी। पाकिस्तान ने नई दिल्ली में अपने नए सीडीए को नियुक्त किया है। साद अहमद वाराइच, जो कि न्यूयॉर्क स्थित संयुक्त राष्ट्र के मिशन में पाकिस्तान के डिप्लोमैट के तौर पर काम कर चुके हैं, को दिल्ली स्थित पाकिस्तानी उच्चायुक्त की ज़िम्मेदारी सौंपी गई है। साद अहमद ने सलमान शरीफ़ की जगह ली है, जिन्होंने पिछले महीने ही इस्लामाबाद लौटने का निर्णय लिया था।

Geetika Shrivastava – जानें क्या है सीडीए की भूमिका ?

वियना कन्वेंशन के मुताबिक कूटनीतिक संबंधों में, सीडीए देशों के बीच निचले स्तर के राजनयिक संबंधों को नियुक्त करते हैं। राजदूत की अनुपस्थिति में, सीडीए देशों को ज़िम्मेदारी निभानी होती हैं। उदाहरण के तौर पर, वर्तमान में भारत और पाकिस्तान के बीच राजदूत नहीं होते हैं। सीडीए द्वारा तय किए जाते हैं तो राजनयिक संबंधों में तनाव के समय, उपरोक्त उदाहरण के साथ, नये सीडीए नियुक्त किए जाते हैं।

जानें कोन है Geetika Shrivastava ?

गीतिका भारतीय विदेश सेवा की अधिकारी हैं और फिलहाल भारत के विदेश मंत्रालय में संयुक्त सचिव के पद पर तैनात हैं.

Geetika Shrivastava भारत-प्रशांत क्षेत्र डिवीज़न की प्रभारी हैं. विदेश विभाग की ये यूनिट एशियान, आईओआरए, एफ़आईपीआईसी और भारत-प्रशांत क्षेत्र की अन्य निकायों को देखती है.

Geetika Shrivastava ने चीन में भारतीय दूतावास में साल 2007 से 2009 के बीच सेवाएं दी हैं.

वो कोलकाता के पासपोर्ट कार्यालय में भी काम कर चुकी हैं. इसके अलावा वो एमईए में हिंद महासागर क्षेत्र डिवीज़न की प्रमुख भी रह चुकी हैं.

तनाव भारत-पाकिस्तान के बीच राजनयिक संबंधों में।

इस समय भारत और पाकिस्तान के बीच राजनीतिक तनाव है, जिसके पीछे मुख्य कारण कश्मीर मुद्दा है।

भारत और पाकिस्तान के बीच के रिश्तों में तनाव का बीता इतिहास है।

2016 में भारत और पाकिस्तान ने आपसी राजनीतिक अदालत में परसोना नॉन ग्रेटा को घोषित किया था।

2018 में दोनों देशों ने आपसी राजनीतिक अदालत में एक-दूसरे के राजनीतिक नेताओं के प्रति अत्याचार के आरोप लगाए थे।

भारत और पाकिस्तान हमेशा से परस्पर प्रतिद्वंद्वी रहे हैं, लेकिन उनकी पासबद्धता की कोशिशें भी रही हैं।

हालांकि हाल के सालों में दोनों देशों के बीच दूरी बढ़ गई है, खासकर भारत में भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रवादी सरकार के आने के बाद, तो भी दोनों देशों के बीच सीमा पर तनाव बढ़ गया है।

भारत सरकार ने अनुच्छेद 370 को समाप्त करने के बाद यह तनाव और भी बढ़ गया है।

और खबरें पढने के लिए –

Raksha Bandhan 2023: बैंक कब बंद रहेंगे 30 या 31 अगस्त? कन्फ्यूजन को दूर करें

Leave a Reply