Baby killer : नर्स ने की सात नवजात शिशुओं की निर्मम हत्या,कबूलनामे मे खुद को बताया शैतान ,जाने पूरा मामला ।

इंग्लैंड के चेस्टर शहर में स्थित काउंटेस ऑफ चेस्टर अस्पताल की Baby killer नर्स लुसी लेटबी के बारे में जब पता चला तब पूरा अस्पताल दंग रह गया । सात नवजात शिशुओ की निर्मम हत्या

हाइलाइट्स:-

  • इंग्लैंड के चेस्टर शहर में स्थित काउंटेस ऑफ चेस्टर अस्पताल में हुई सात नवजात शिशुओ की हत्या ।
  • अस्पताल की नर्स निकली Baby killer
  • Baby killer नर्स को कुल 13 नवजातों पर जानलेवा हमले का दोषी माना
  • सोमवार को सुनाई जायेगी कोर्ट में सजा

इंग्लैंड:-

उत्तरी इंग्लैंड के एक अस्पताल में कार्यरत एक ब्रिटिश मूल की नर्स को सात शिशुओं की हत्या में दोषी करार दिया गया है. Baby killer नर्स ने अपने नोट में लिखा कि वह शैतान है. 33 वर्षीय लेटबी को मैनचेस्टर क्राउन कोर्ट की जूरी द्वारा सात शिशुओं की हत्या का दोषी पाया गया और छह अन्य शिशुओं के हत्या के प्रयास के सात मामलों में भी दोषी पाया गया ।

Baby killer

Baby killer नर्स ने खुद को बताया शैतान:-

33 साल की लुसी लेटबीनर्स ने बच्चों को जिस भयावह तरीके से मारा, इससे अंदाजा इससे लगाया जा सकता है उसकी मानसिकता क्या रही होगी , पुलिस ने आरोपी के घर की जब छानबीन की तो ऐसे नोट्स मिले, जिन पर लिखा था कि वह शैतान है.  नर्स की भयावह मानसिकता के साक्ष्य के तौर हाथ से लिखे ये नोट्स भी अदालत में प्रस्तुत किए गए ।

Baby killer

2015 में पहली बार सामने आया था मामला :-

बरामद हुए नोट्स में ऐसा भी लिखा था कि ‘मैंने उन्हें जानबूझकर मार डाला क्योंकि मैं उनकी देखभाल करने लायक नहीं हूं, “मैं बुरी हूं, मैंने यह किया”; और “आज आपका जन्मदिन है और आप यहां नहीं हैं और मुझे इसके लिए बहुत खेद है.’ नर्स के इस कृत्य का मामला पहली बार 2015 में  उठा था, जब उस साल तीन बच्चों की मौत हो गई थी. आखिरकार, अप्रैल 2017 में राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा (एनएचएस) ट्रस्ट ने डॉक्टरों को एक पुलिस अधिकारी से मिलने की मंजूरी दे दी और फिर मामले की जांच आगे बढ़ी।

कैसे की नवजात की हत्या :-

उत्तरी इंग्लैंड में मैनचेस्टर क्राउन कोर्ट की जूरी 22 दिनों तक विचार-विमर्श करने के बाद अपने फैसले पर पहुंची। लूसी लेटबी पर बीमार या समय से पहले पैदा हुए नवजात पीड़ितों को हवा का इंजेक्शन लगाने, उन्हें काफी अधिक दूध पिलाने और उन्हें इंसुलिन से जहर देने का आरोप लगाया गया था। लूसी लेटबी को जून 2015 और जून 2016 के बीच उत्तर पश्चिमी इंग्लैंड के काउंटेस ऑफ चेस्टर अस्पताल की नवजात इकाई में बच्चों की मौत की सिलसिलेवार घटनाओं के बाद गिरफ्तार किया गया था।

Baby killer नर्स को बताया शातिर महिला :-

अभियोजन पक्ष द्वारा लुसी लेटबी को एक “शातिर” महिला के रूप में बताया गया है। उसने हत्या के ऐसे तरीकों का इस्तेमाल किया, जिससे “सबूतों का कोई निशान नहीं छूटा”। कोर्ट में सुनवाई के दौरान लूसी लेटबी ने बार-बार बच्चों को नुकसान पहुंचाने से इनकार किया था। लुसी लेटबी को दो बार गिरफ्तार किया गया और रिहा किया गया। साल 2020 में उसकी तीसरी गिरफ्तारी के बाद उस पर औपचारिक रूप से आरोप लगाया गया और हिरासत में रखा गया।

सबूत छोड़े बिना हत्या करती थी लूसी:-

प्रोसिक्यूशन ने बताया- लूसी लेटबी ​​​​​को कमजोर बच्चों की सुरक्षा का जिम्मा सौंपा गया था। उसने हत्या के ऐसे तरीकों का इस्तेमाल किया, जिनसे कोई खास सबूत नहीं छूटा।

Baby killer लूसी के साथ काम करने वालों ने कोर्ट में बताया कि बच्चों की मौत तब हुई, जब लुसी शिफ्ट में थी। कुछ नवजात बच्चों पर उसी समय हमला हुआ ,जब उनके माता-पिता पालने में छोड़कर गए।

विश्वास दिलाया कि मौतें प्राकृतिक वजहों से हो रहीं
प्रोसिक्यूटर निक जॉनसन ने कहा कि लुसी अपने सहयोगियों को यह विश्वास दिला देती थी कि मौतें प्राकृतिक वजहों से हो रही हैं। वह अपनी तरफ से बच्चों को नहलाने, कपड़े पहनाने और उनकी तस्वीरें लेने की पेशकश करती थी। वह हर बच्चे की मौत के बाद उत्साहित दिखाई देती थी

Baby killer

डॉ. रवि जयराम की मदद से नर्स को दोषी ठहराने में मदद:-

भारतीय मूल के सलाहकार बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. रवि जयराम उन लोगों में शामिल हैं, जिन्होंने ब्रिटेन की एक अदालत द्वारा शुक्रवार को नवजातों की हत्या की आरोपी नर्स को दोषी ठहराने में मदद की। डॉ. जयराम ने फैसले के बाद एक टीवी साक्षात्कार में ‘आईटीवी न्यूज’ को बताया, ”मैं वास्तव में मानता हूं कि चार या पांच बच्चे ऐसे हैं जो अब स्कूल जा सकते हैं, लेकिन नहीं जा रहे हैं.

इंग्लैंड के चेस्टर शहर में स्थित काउंटेस ऑफ चेस्टर अस्पताल के डॉ. रवि जयराम ने बताया कि अगर समय रहते पूर्व नर्स लुसी लेटबी के बारे में गौर कर लिया होता, तो पुलिस सतर्क हो सकती थी। समय रहते घायलों का इलाज शुरू हो जाता, जिससे कई लोगों की जान बच सकती थी।

also read :- Hariyali teej :- 19 अगस्त 2023 हरियाली तीज व्रत, जानिए क्या है तीज का महत्व व इस व्रत को करने से प्राप्त फल ।

Leave a Reply