UP: क्रूरता की सारी हदे हुई पार ,बच्चों के प्राइवेट पार्ट में डाली मिर्च, रातभर दर्द मे बदली करवटें.

UP में मानसिक रूप से कमजोर नाबालिग बच्चों के साथ इन्सानियत को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है , परिवार के लोग इस घटना से आक्रोश में हैं। बच्चे पूरी रात दर्द मे बदलते रहे करवटे । लेकिन डर के कारण मुंह नहीं खोला ।

UP इन्सानियत को शर्मसार करने वाली घटना:-

UP के सिद्धार्थनगर के पथरा थाना क्षेत्र में मानसिक रूप से कमजोर दो नाबालिगों के साथ हुई इन्सानियत को शर्मसार करने वाली घटना ने मध्यप्रदेश और यूपी के सोनभद्र में हुई पेशाब पिलाने वाली घटना को एक बार फिर सुर्खीयो मे ला दिया है। यहां इन्सानियत की हदें पार करने वाली यह घटना से जितना लोगो मे आक्रोश बढ रहा है उतना ही सोशल मीडिया पर इसका वीडियो वायरल हो रहा है।

पेट्रोल का इंजेक्शन लगाया गया:-

पथरा थाना इलाके के एक गांव में मानसिक रूप से कमजोर दो नाबालिगों को पेशाब पिलाया, बल्कि उनके साथ हैवानियत की गई। पहले पेशाब पीने पर विवश किया गया, फिर हाथ-पैर बांधकर पेट्रोल का इंजेक्शन लगाया गया।

UP

वीडियो बनाकर वायरल किया :-

आरोपियो का इससे भी मन नहीं भरा तो हरी मिर्च तोड़कर गुप्तांग में डाल दिया तथा इस सब क्रूरता का वीडियो बनाया गया । जिसमे आरोपी हंसते दिखाई दे रहे हैं। वीडियो वायरल होने के बाद लोग परिवार के साथ ही अन्य लोग भी आक्रोश व्यक्त रहे हैं। उन्हें मध्यप्रदेश और सोनभद्र मे हुई घटना की याद आने लगी।

बच्चे पूरी रात दर्द मे बदलते रहे करवटे । लेकिन डर के कारण मुंह नहीं खोला ।

UP सिद्धार्थनगर के पथरा थाना क्षेत्र में दो मानसिक रूप से कमजोर नाबालिग बच्चों के साथ कितनी क्रूरता हुई थी, यह सोचकर परिवार के लोगो की रूह कांप रही हैं। कारण जो बच्चे पूरे दिन अपनी माँ से खाने की जिद पर अड़े रहते थे।
परिवार के लोगों से बातचीत करते थे। वह शुक्रवार शाम घर पहुंचे तो गुमसुम थे और बिना खाए सोने चले गए।

UP

पूरी रात दर्द से करवट बदलते रहे :-

पूरी रात दर्द से करवट बदलते रहे लेकिन डर के कारण मुंह नहीं खोला। मासूमों के साथ हुई दरिंदगी ने उनके दिल दिमाग मे गहरा असर छोडा है ।

मेहनत मजदूरी करके पालते है बच्चो को :-

वीडियो सामने आने के बाद जहां परिवार के लोग बच्चों के दर्द को महसूस करके रो रहे हैं। वहीं, इस वीडियो को देखने के बाद हर कोई आक्रोश से भर जा रहा है। पीड़ित बच्चे की मां ने बताया कि उसके तीन बेटे हैं और पीड़ित दूसरे नंबर का है।
वह मानसिक रूप से कमजोर भी है। पति बाहर रहकर काम करते हैं, जबकि वह स्वयं मेहनत मजदूरी करके बच्चों की परवरिश कर रही है। 10 वर्षीय बच्चे की मां के अनुसार शुक्रवार शाम को जब बेटा घर पहुंचा तो वह उदास था। कुछ नहीं बोला और जब खाना खाने के लिए कहा तो खाने से इन्कार कर दिया।

 डर इतना के, पीडा सह ली पर पूछने पर कुछ नहीं बताया :-

रात में करवट बदलता रहा और कराहता रहा। पूछने पर कुछ नहीं बोला। लेकिन बेटे के साथ मां को भी कहा नींद आती है ,उसे दर्द मे देख सोचा सुबह डॉक्टर को दिखाएंगे कहीं बुखार तो नहीं हो गया है। जब तक डॉक्टर के पास जाने की सोची ही थी कि एक वीडियो दिखाया गया। जिसे देखने के बाद मां की रूह कांप गई। बेटे की रात किस प्रकार गुजरी वही समझ रहा होगा। उसे डरा दिया गया था और उसके मन में वह डर घर कर गया था ,जिसकी वजह से वह कुछ बता नहीं पा रहा था।

चोरी के आरोप में दरिंदगी की हदें पार, पिलाया पेशाब, गुप्तांग में डाली मिर्ची

15 वर्षीय दूसरे पीड़ित के पिता ने बताया कि शुक्रवार शाम को मुर्गी शॉप की दुकान चलाने वाला घर आया था और बोल रहा था कि तुम्हारा लड़का दुकान से दो हजार रुपये चोरी करके ले आया है। घर की तलाशी लेकर गया था।

बेटा भले ही मानसिक रूप से कमजोर हैं, लेकिन सबसे हंसता बोलता था। शुक्रवार शाम घर लौटा तो एकदम शून्य सा था। कुछ नहीं बोला और यहां तक बिना खाना खाए सो गया। पर हमें क्या पता था कि बेटे के साथ इतनी बड़ी घटना हुई है। वीडियो सामने आने के बाद हमें जानकारी हुई। बेटे ने क्या बिगाड़ा था जो इतनी बड़ी सजा दे डाली। इस घटना से जहां दोनों परिवार बच्चों के दर्द से सिहर जा रहे हैं। वहीं अन्य लोग दुखी हैं।

Also Read Love Passion: एक और सरहद पार आई सीमा , श्रीलंका से भारत आई युवती, गांव के मंदिर में लिए सात फेरे, फेसबुक पर हुई थी मुलाकात

Leave a Reply