Delhi Rain IMD Alert – उमस भरी गर्मी से मिली राहत तो वहीँ यमुना खतरे के निशान से ऊपर

Delhi Rain – दिल्ली-एनसीआर में बारिश से आई राहत, यमुना का जलस्तर खतरे के पार!

दिल्ली-एनसीआर में बारिश के इंतजार के बाद, रविवार को एक बार फिर से मौसम ने दिल्लीवासियों को उमस भरी गर्मी से राहत दिलाई। मॉनसून के आगमन के साथ ही जमकर बारिश हुई थी, जो लोगों को सुखद महसूस करवा रही थी। लेकिन, कुछ दिनों से बारिश कम होने से दिल्ली और एनसीआर के निवासियों को उष्णकाल की भयानक गर्मी का सामना करना पड़ रहा था। रविवार को दोपहर तीन बजे यमुना का जलस्तर एक बार फिर खतरे के निशान को पार कर 206.26 मीटर तक पहुंच गया, जिससे प्रशासन ने राजधानी के निचले इलाकों को खाली करने का अलर्ट जारी किया है।

दिल्ली के मौसम विभाग ने पहले से ही दिन में हल्की बारिश की उम्मीद जताई थी, जिससे लोगों को थोड़ी राहत मिली। वहीं, सुबह साढ़े आठ बजे की व्यापक रूप से आर्द्रता 71 फीसदी दर्ज की गई थी। वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 78 दर्ज किया गया, जो ‘संतोषजनक’ श्रेणी में आता है।

यमुना नदी का जलस्तर भी बढ़ गया है उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में हो रही भारी बारिश के कारण। हथिनीकुंड बैराज से पानी छोड़े जाने से यमुना का जलस्तर बढ़ा हुआ है। यह वृद्धि दिल्ली के निचले इलाकों में बाढ़ और प्राकृतिक आपदा का खतरा बढ़ा सकती है। राजस्व मंत्री आतिशी ने बताया कि हथिनीकुंड बैराज से यमुना नदी में दो लाख क्यूसेक से अधिक पानी छोड़े जाने के कारण दिल्ली सरकार हाई अलर्ट पर है। अगर जलस्तर 206.7 मीटर तक पहुंच जाता है, तो यमुना खादर के कुछ हिस्से जलमग्न हो सकते हैं।

यमुना का जलस्तर पिछले कुछ दिनों से 205.33 मीटर के खतरे के निशान के आसपास था, जबकि 13 जुलाई को इसने रिकॉर्ड 208.66 मीटर पर पहुंच गया था। केंद्रीय जल आयोग (सीडब्ल्यूसी) के आंकड़ों के मुताबिक, यमुना का जलस्तर शनिवार रात 10 बजे 205.02 मीटर से बढ़कर रविवार सुबह नौ बजे 205.96 मीटर पर पहुंच गया और इसके शाम चार बजे तक 206.7 मीटर तक पहुंचने की संभावना है।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने आगामी 25 जुलाई तक हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के कुछ हिस्सों में भारी से बहुत भारी बारिश की संभावना बताई है। इस बारिश के बाद यमुना का जलस्तर और बढ़ सकता है, जो राष्ट्रीय राजधानी के निचले इलाकों में बाढ़ प्रभावित निवासियों को ज्यादा परेशानी का सामना करवा सकता है।

यमुना नदी के जलस्तर में वृद्धि के कारण सरकार ने लोगों को सतर्क रहने की अपील की है और बाढ़ से प्रभावित इलाकों को खाली करने के लिए तैयारियां की है। लोगों से अनुरोध है कि वे अपनी सुरक्षा के लिए सरकार के दिए गए निर्देशों का पालन करें और खतरे के इलाकों से दूर रहें।

Leave a Reply